आज ऐसी कोई दुकान नहीं है जहां इनका प्रोडक्ट नहीं है, आज है 21 हजार करोड़ रुपये के मालिक

Posted On:07/2/22

हिंदुस्तान में कई रियलिटी शो हैं लेकिन शार्क टैंक एक प्रकार का अलग तरह का रियलिटी शो है. इसका संबंध व्यापार और निवेश से है. इसप्रकार के आइडिया में देश के जाने-माने बड़े उद्योगपति अपना पैसा निवेश करते हैं|शार्क टैंक के  मुख्य निवेशक जज अशनीर ग्रोवर हैं. उनको शार्क नाम से जाना  जाता है.

आखिर कौन हैं अशनीर ग्रोवर?

अशनीर ग्रोवर किस कंपनी के मालिक हैं?अगर आपके मन में भी ऐसे सवाल हैं तो इन सभी सवालों के जवाब को जानेने की इच्छा तो आपको यहां पर उसका जवाब मिल जाएंगे.अशनीर ग्रोवर भारत के जाने-माने उद्योगपति हैं. इस समय  में, अशनीर ग्रोवर शार्क टैंक रियलिटी शो को जज कर रहे हैं और वह अपने रुपयों  को नए स्टार्टअप्स में निवेश कर रहे हैं. लेकिन वह भारत पे के सह-संस्थापक  हैं. वह व्यवसाय में बहुत जानकार हैं और इन्होने कई वर्षों से कॉर्पोरेट में रह रहे हैं.|वह अपनी जिंदगी को प्राइवेट रखना पसंद करते है।हालांकि, हाल ही में कंपनी बोर्ड के साथ जारी विवाद के चलते तीखी नोंक-झोंक के बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। अब एक नई रिपोर्ट में अब दावा किया गया है कि अशनीर और उनकी पत्नी माधुरी जैन ग्रोवर ने कंपनी फंड का जमकर दुरुपयोग किया। उनकी लाइफस्टाइल कितनी शानदार थी इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि डाइनिंग टेबल और कार पर ही उन्होंने दस करोड़ रुपये खर्च कर दिए।

अशनिर ग्रोवर की शिक्षा- दिक्षा 

इनका  जन्म सन 14 जून 1982 को दिल्ली में हुआ था. अशनीर मूल रूप से दिल्ली के निवासी  है. अशनीर का जन्म  एक अमीर और पढ़े-लिखे परिवार में हुआ था| . उनके पिता C.A  हैं और माता जी  शिक्षिका हैं. अशनीर ग्रोवर की Wife  का नाम माधुरी जैन ग्रोवर है. अशनीर की पढ़ाई की बात करें तो अनासिर ने IIT दिल्ली से और सिविल इंजीनियरिंग की पढाई की है. वह अपने बैच में प्रथम रैंक था. स्नातक स्तर की पढ़ाई के दौरान, उन्हें फ्रांस के INSA ल्यों, एक विनिमय नामक कार्यक्रम के लिए चुना गया था. ग्रेजुएशन खत्म  करने के पश्चात 2006 में अशनिर ने IBM  अहमदाबाद से MBA किया |

अनिशर सिर्फ व्यसाय और कॉरपोरेट जगत के खिलाड़ी नहीं हैं| अनिशरअपना खुद का व्यवसाय शुरू करने से पहले उन्होंने कई बड़ी – बड़ी और प्रसिद्ध कंपनियों में काम किया है| उन्हें कॉरपोरेट जगत की अच्छी तरह समझ है|

अशनीर को कोटक महिंद्रा  बैंक में एक निवेश बैंकर के रूप में अपनी पहली नौकरी की शुरुवात  की. अशनिर ने वहां काम किया और उन्हें उपाध्यक्ष के पद में शामिल किया. अशनिर वहां पर सात साल तक काम किया.अश्नीर ग्रोवर भारत पे के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में काम करते है |

कोटक महिंद्रा बैंक में काम करने के बाद अशनिर को अमेरिकन एक्सप्रेस में काम करने का मौका प्राप्त हुआ . 2013 में, उन्हें कॉर्पोरेट विकास का निदेशक चुना गया था. कुछ सालो  तक अशनिर ने अमेरिकन एक्सप्रेस में काम किया और उसके बाद  फिर नौकरी छोड़ दी.|अशनिर एक सक्रिय निवेशक हैं और उन्होंने अलग अलग तरह क के स्टार्टअप्स में लगभग 55 गुना निवेश किया है।

पुरानी नौकरी छोड़ी और  का स्टार्टअप शुरू किया

अशनिर ने 2017 तक कॉरपोरेट जगत में काम किया था और अशनिर ने काफी अनुभव हासिल हुआ  था. अब अशनिर एक अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहते थे. अशनीर ने अपनी नौकरी छोड़ने के बाद  भारत पे प्रोजेक्ट पर काम करना प्रारम्भ  कर दिया. और अक्टूबर 2018 में बहुत ही कम कर्मचारियों के साथ (बीस कर्मचारियों के साथ भारत वेतन का शुभारंभ किया|

आखिर क्या है भारत पे?

भारत पे 2018 में हिंदुस्तान में लॉन्च की गई एक फिनटेक कंपनी है जो कि अशनीर ग्रोवर एक नया आइडिया लेकर आए.थे  2018 में, आपने देखा होगा कि प्रत्येक कंपनी के पास एक अलग क्यूआर कोड(QR CODE )और यूपीआई के माध्यम से भुगतान के लिए एक अलग-अलग  ऐप था. लेकिन भारत ने इसे बहुत ही आसान बना आसान बना दिया. भारत पे ने ब्रेक लिया जिसमें आप क्यूआर कोड लॉन्च किया साथ ही  किसी भी ऐप से भुगतान ले सकते हैं. और दे सकते है |उन्होंने भारत पे के कर्मचारियों को 13 शहरों तक एक्सपेंड किया है।

अगर किसी दुकान पर भारत पे का क्यूआर कोड है, तो आप फोनपे, गूगल पे, पेटीएम, जैसे भुगतान यूपीआई के जरिए आप भुगतान कर सकते है| अशनिर का विचार भारत में उत्पन्न हुआ और भारत में बहुत लोकप्रिय हुआ है |